Home / प्रसिद्ध भजन / गौरी जी के भजन

गौरी जी के भजन

माता कूष्माण्डा की आरती

माँ कुष्मांडा

माता कूष्माण्डा की आरती कुष्मांडा जय जग सुखदानी मुझ पर दया करो महारानी पिंगला ज्वालामुखी निराली शाकम्बरी माँ भोली भाली लाखो नाम निराले तेरे भगत कई मतवाले तेरे भीमा पर्वत पर है डेरा स्वीकारो प्रणाम ये मेरा संब की सुनती हो जगदम्बे सुख पौचाती हो माँ अम्बे तेरे दर्शन का …

Read More »

माता चंद्रघंटा की आरती

माता चंद्रघंटा

माता चंद्रघंटा की आरती जय माँ चन्द्रघंटा सुख धाम। पूर्ण कीजो मेरे काम॥ चन्द्र समाज तू शीतल दाती। चन्द्र तेज किरणों में समाती॥ क्रोध को शांत बनाने वाली। मीठे बोल सिखाने वाली॥ मन की मालक मन भाती हो। चंद्रघंटा तुम वर दाती हो॥ सुन्दर भाव को लाने वाली। हर संकट …

Read More »

माता ब्रह्मचारिणी की आरती

माता ब्रह्मचारिणी की आरती

माता ब्रह्मचारिणी की आरती जय अंबे ब्रह्माचारिणी माता। जय चतुरानन प्रिय सुख दाता। ब्रह्मा जी के मन भाती हो। ज्ञान सभी को सिखलाती हो।। ब्रह्मा मंत्र है जाप तुम्हारा। जिसको जपे सकल संसारा।। जय गायत्री वेद की माता। जो मन निस दिन तुम्हें ध्याता।। कमी कोई रहने न पाए। कोई …

Read More »

माता शैलपुत्री की आरती

माता शैलपुत्री की आरती

माता शैलपुत्री की आरती माता शैलपुत्री बैल असवार। करें देवता जय जयकार। शिव शंकर की प्रिय भवानी। तेरी महिमा किसी ने ना जानी। पार्वती तू उमा कहलावे। जो तुझे सिमरे सो सुख पावे। ऋद्धि-सिद्धि परवान करे तू। दया करे धनवान करे तू। सोमवार को शिव संग प्यारी। आरती तेरी जिसने उतारी। …

Read More »

Ambe Tu H Jagdambe Kali (अम्बे तू है जगदम्बे काली)

Ambe-tu-h-jagdambe-kali

अम्बे तू है जगदम्बे काली अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली, तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती। तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी। दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥ सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट …

Read More »