Home / धार्मिक ग्रन्थ / श्रीमद भगवत गीता / निर्णय लेने के 11 अहम् नियम-श्रीमद भगवद गीता1 min read

निर्णय लेने के 11 अहम् नियम-श्रीमद भगवद गीता1 min read

श्रीमद-भगवद-गीता

निर्णय लेने के 11 अहम् नियम

  1. भावना अस्थायी होती है और कभी भी अपनी भावनाओं के आधार पर निर्णय नहीं लेना चाहिए
  2. अत्यधिक भावनाओं में निर्णय लेने से बचें
  3. अपने आप से पूछें “क्या मैं गुस्से या लगाव में यह फैसला ले रहा हूं”
  4. क्या मैं केवल परिणामों पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं (बदलाव से मत डरें)
  5. विश्वास के बिना जो कुछ भी किया जाता है, वह बेकार है
  6. एक महान व्यक्ति जो भी कार्य 
  7. करता है वह आम आदमी करता है
  8. अपने लक्ष्यों को ऊँचा रखें
  9. समाज के लिए जो अच्छा है वह आपके लिए अच्छा है
  10. ईश्वर में विश्वास
  11. सही परामर्श से आप बेहतर निर्णय ले सकते हैं
  12. श्रीमद भगवद गीता पढ़ें

इस तेज गर्मी से लड़ने के लिए निम्बू पानी पीने के 7 कारण

For More Blogs: https://ayurvedagyan.com/

About Versha Bhatt

Check Also

श्री-राम-बाल-कांड

रामायण; बाल कांड का सार

हंदु धर्म में सबसे पवित्र ग्रंथों में से एक है श्री राम के जीवन काल …

2 comments

  1. Very nice and useful blogs. This will really help everyone to take decision in any situation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *