Home / सिख गुरु साहिबान / गुरु हर कृष्ण साहिब जी1 min read

गुरु हर कृष्ण साहिब जी1 min read

गुरु हर कृष्ण साहिब जी

गुरु हर कृष्ण साहिब जी

गुरु हर कृष्ण साहिब

गुरु हर कृष्ण साहिब सिखों के आठवे गुरु थे। गुरु हर कृष्ण साहिब का जन्म 7 जुलाई संन 1656 में किरतपुर, पंजाब में हुआ था। वे केवल पांच वर्ष के थे जब उन्हें सिख गुरु गद्दी पर बैठाया गया। गुरु हर कृष्ण साहिब गुरु हर राय और माता कृष्ण कौर के दूसरे बेटे थे। गुरु हर कृष्ण जी का जन्म भी वही हुआ था जहाँ इनका पिता का जन्म हुआ था। यह सोलवी सदी की बात है जब सिख समुदाय की बागडोर गुरु हरिराय जी के हाथ में थी, उन्होंने अपनी मृत्यु से पहले गुरु हर कृष्ण साहिब को गुरु गद्दी पर बैठाया और सिखों का गुरु घोषित किया।

गुरु गद्दी

गुरु हर कृष्ण साहिब 6 अक्टूबर संन 1661 में गुरु बने और इस पद पर 1664 तक रहे। श्री गुरु हर कृष्ण जी सबसे छोटी उम्र में गुरु गद्दी प्राप्त करने वाले गुरु थे। गुरु हर राय जी के दो पुत्र थे किन्तु बड़े बेटे द्वारा सिख ग्रन्थ की मर्यादाओं का उल्लंघन करने के कारण गुरु हर राय जी ने उन्हें गुरु गद्दी नहीं सौंपी।

हैज़ा बीमारी का प्रकोप 

राम राय जो गुरु हर कृष्ण जी के बड़े भाई थे उनको यह बात पसंद नहीं आयी इसलिए वे अपनी शिकायत औरंगज़ेब के पास लेकर पहुँच गए। इस मामले का फैसला करने के लिए औरंगज़ेब ने गुरु हर कृष्ण जी को दिल्ली बुला लिया। इसी दौरान दिल्ली में हैज़ा जैसी बीमारी का प्रकोप महामारी लेकर आया। उन दिनों इस महामारी से बहुत सारे लोग पीड़ित थे। जात-पात एवं ऊंच-नीच को किनारे करते हुए गुरु साहिब ने सभी भारतीय जानो की सेवा का अभियान चलाया।

बाला-पीर

खासकर दिल्ली में रहने वाले मुस्लिम उनकी इस सेवा से बहुत प्रभावित हुए और उन्हें वे बाला पीर कहकर पुकारने लगे। दूसरों के दुःख दूर करते करते एक दिन वे स्वयं इस बीमारी का शिकार हो गए। जब लोगो को दिमाग में यह प्रश्न उठा की अब गुरु गद्दी पर कौन बैठेगा, तो उन्होंने अपने उत्तराधिकारी के लिए केवल ‘बाबा-बकाला’ का नाम लिया। जो की भविष्य गुरु, गुरु तेग बहादुर साहिब थे। गुरु तेग बहादुर साहिब पंजाब में व्यास नदी के किनारे स्थित बकाला गांव में रहते थे।

वाहे गुरु जी

16 अप्रैल 1664 को गुरु जी धीरे से स्वर में वाहे गुरु जी बोलते हुए सिख संगत को अलविदा कह गए। गुरु हर कृष्ण का जीवन भले ही छोटा था लेकिन इतने छोटे सफर में भी वे सिख संगत को मदद करते रहने और त्याग एवं तपस्या की सीख दे गए। हम गुरु हर कृष्ण जी को शत-शत नमन करते है।

जानिए आयुर्वेद के विभ्भिन फायदे

Top 10 home remedies for removing dark circles

For more updates visit AYURVEDA GYAN

About Deepika Bhatt

Check Also

श्री गुरु हर राय जी का जीवन परिचय

श्री गुरु हर राय जी का जीवन परिचय

श्री गुरु हर राय जी का जीवन परिचय Table of Contents श्री गुरु हर राय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *